(Profile)प्रोफ़ाइल

रायपुर जिला छत्तीसगढ़ क्षेत्र के उपजाऊ मैदानों में स्थित है। यह जिला 22o 33' N ' 21o14 N अक्षांश और 82o 6' to 81o38'E देशांतर के मध्य में स्थित है। यह जिला उत्तर दिशा में जिला - बिलासपुर, दक्षिण दिशा में जिला - बस्तर एवं ओड़िसा राज्य के कुछ भाग पूर्व दिशा में जिला - रायगढ़ एवं उड़ीसा राज्य के कुछ भाग तथा पश्चिम दिशा में जिला – दुर्ग से घिरा हुआ है । दक्षिण दिशा के उपरी भाग में महानदी की घाटी और पूर्व दिशा के दक्षिण पूर्वी भाग में पहाड़ियों परिक्षेत्र के अंतर्गत स्थित है। इस प्रकार यह जिला छत्तीसगढ़ के दो प्रमुख भौतिक विभाग में अर्थात समतल और पहाड़ी क्षेत्रों में विभाजित है।


इस जिले की प्रमुख नदी महानदी है। यह छत्तीसगढ़ प्रदेश की जीवन रेखा है। महानदी रायपुर के सिहावा पर्वत से 42 मीटर की ऊंचाई से निकलकर दक्षिण-पूर्व की ओर से उड़ीसा के पास से बहते हुये बंगाल की खाड़ी में समा जाती है। छत्तीसगढ़ राज्य में इसकी लम्बाई 286 किमी. है। महानदी की कुल लम्बाई 858 किमी. है। इस पर दुधावा, माढ़मसिल्ली, गंगरेल, सिकासेर, सोंढुर बांध बने हैं। उड़ीसा पर विशाल हीराकुण्ड बांध भी इसी नदी पर बना है।इसकी सहायक नदियों मॉढ ,पैरी , जोक ,खारुन और शिवनाथ है। रायपुर जिले की भूमि की उर्वरता की जिम्मेदारी यही नदियों की उपस्थिति को ठहराया जा सकता है। महानदी पश्चिमी भाग में तहसील धमतरी (अब रायपुर जिला से अलग) के उत्तरी पूर्वी भाग, में राजिम, पुरे रायपुर शहर और तहसील बलौदा बाज़ार (अब रायपुर जिला से अलग) से होकर गुजरती है। छत्तीसगढ़ के इस महानदी का पश्चिम क्षेत्र ढालू खुला समतल, कृषक जमीन, घनी आबादी और घोर जंगलों सहित एक हिस्सा है। महानदी के पूर्व में सिरपुर और कसडोल के बीच में 13 से 15 किलोमीटर छोड़कर पहाडियों से घिरा हुआ है। महानदी का दक्षिणी भाग समुद्र तल से 305 मीटर ऊपर है, जबकि उत्तरी भाग समुद्र तल 244 मीटर ऊपर है।