बंद करे

जिले के बारे में

जिला रायपुर छत्तीसगढ़ प्रान्त के मध्य में स्थित होने के फलस्वरूप जिला रायपुर को छत्तीसगढ़ की राजधानी बनाया गया। जिला रायपुर अक्षांश 21° 23″ एवं देशांश 81° 65″ के मध्य स्थित है |

क्षेत्रफल – वर्ष 1998 में जिला रायपुर 3 भागों में विभक्त हुआ , जिसके विभक्त होने से जिला महासमुंद एवं धमतरी का निर्माण किया गया | इसी प्रकार वर्ष 2011 में रायपुर को पुनः विभक्त कर 2 नये जिले बलौदाबाजार-भाटापारा एवं गरियाबंद का निर्माण किया गया है | रायपुर जिले के अंतर्गत धरसीवा, आरंग , अभनपुर एवं तिल्दा मैदानी क्षेत्र शामिल है| रायपुर जिला समुद्र तल से 244 से 409 मीटर उचाई पर स्थित है |

पडोसी जिले – जिला रायपुर 6 पडोसी जिले क्रमशः दुर्ग , बेमेतरा , बलौदाबाजार-भाटापारा ,महासमुंद , रायपुर एवं धमतरी से घिरा हुआ है |

जल नदियां – जिला रायपुर में मुख्यत: महानदी एवं खारुन नदी प्रवाहित होती है | महानदी छत्तीसगढ़ की सर्वाधिक महत्वपूर्ण नदी है , जिसका उद्गम धमतरी जिले के नगरी –सिहावा तहसील में स्थित श्रृंगी पर्वत से हुआ है | इसी प्रकार खारुन नदी रायपुर एवं दुर्ग जिले में प्रवाहित होने वाली महत्वपूर्ण नदी है, जिसका उद्गम दुर्ग जिले के पेटेचुवा के पहाड़ी से हुई है |

जलवायु एवं वर्षा – रायपुर जिले का औसत अधिकतम तापमान 44.3°C एवं नयूनतम तापमान 12.5°C है जिले की कुल औसत वर्षा 1370 मिमी. हैं |

मिट्टी – क्षेत्र में कन्हार , डोरसा , मटासी , कछार एवं भाठा भूमि शामिल हैं जिसका ph औसत 6.5 से 7.5 है, जो प्रमुख रूप से कृषि कार्य हेतु बहुत ही उपयोगी है |